सीओओ छत्तीसगढ़ श्री दिनेश कुमार सरावगी को मिला ‘लीडिंग डायरेक्टर’ पुरस्कार
ग्रीनटेक फाउंडेशन की ज्यूरी ने प्रदान किया पुरस्कार

रायगढ़ । जिंदल स्टील एंड पाॅवर लिमिटेड समूह के रायगढ़ संयंत्र ने एक बार फिर राष्ट्रीय स्तर पर सराहना हासिल की है। ग्रीनटेक फाउंडेशन द्वारा जेएसपीएल रायगढ़ को वर्ष 2020-21 का ’एनर्जी कन्जर्वेशन अवार्ड’ प्रदान किया गया है। साथ ही कंपनी के सीओओ छत्तीसगढ़ श्री दिनेश कुमार सरावगी को ’लीडिंग डायरेक्टर अवार्ड’ के लिए चुना गया। कश्मीर के सोनमर्ग में आयोजित भव्य समारोह में श्री सरावगी ने दोनों ही पुरस्कार ग्रहण किए।

देश के सबसे बड़े उद्योग समूहों में से एक, जेएसपीएल का रायगढ संयंत्र अपनी उपलब्धियों के लिए फिर से सराहा गया है। नई दिल्ली के ग्रीनटेक फाउंडेशन ने संयंत्र को ऊर्जा संरक्षण के क्षेत्र में अपनी विशिष्ट उपलब्धियों, प्रयासों और उपायों के आधार पर वर्ष 2020-21 के ’ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार’ के लिए चुना। इनमें संसाधनों का प्रभावी प्रबंधन, ’वेस्ट हीट रिकवरी’ के माध्यम से न्यूनतम ऊर्जा उपयोग के साथ इस्पात उत्पादन शामिल हैं। साथ ही पर्यावरण संरक्षण की दिशा में कंपनी की प्रतिबद्धता की भी सराहना की गई।

इसके साथ ही जेएसपीएल के सीओओ छत्तीसगढ़़ श्री दिनेश कुमार सरावगी को ग्रीनटेक फाउंडेशन ने ’लीडिंग डायरेक्टर अवार्ड’ से सम्मानित किया है। भारत के सबसे बड़े उद्योग समूहों में से एक, जेएसपीएल की कई प्रमुख परियोजनाओं को सफलतापूर्वक पूरा करने और औद्योगिक-सामाजिक विकास को लेकर उनके विजन के आधार पर श्री सरावगी को इस पुरस्कार के लिए चुना गया। पुरस्कार के लिए देशभर के उद्योग समूहों से प्रविष्टियां आमंत्रित की गई थीं। पुरस्कार की ज्यूरी ने सभी प्रविष्टियों की जांच और अध्ययन के बाद श्री सरावगी को पुरस्कार के लिए चुन लिया। 

पुरस्कार वितरण समारोह कश्मीर के सोनमर्ग में आयोजित किया गया था। इसमें ग्रीनटेक फाउंडेशन के द्वारा डाॅ. फारूख अब्दुल्ला, श्री कमलेश्वर शरण, श्री वीपी महावर सहित उद्योग जगत के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में यह पुरस्कार प्रदान किया गया। इस अवसर पर श्री सरावगी ने कहा कि ’यह पुरस्कार असल में जेएसपीएल की सोच और कार्यपद्धति को मिला है। उन्होंने कहा कि चेयरमैन श्री नवीन जिंदल के मार्गदर्शन में कंपनी लगातार आगे बढ़ रही है। पिछले कुछ समय में हमने कई उतार-चढ़ाव देखे। अब एक बार फिर जेएसपीएल समूह सफलता की बुलंदियों को छूने की तैयारी में है।’ उन्होंने इस उपलब्धि का श्रेय कंपनी के चेयरमैन श्री नवीन जिंदल के नेतृत्व को देते हुए विश्वास जताया कि कि आने वाले वर्षों में कंपनी, आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में अपना हरसंभव योगदान देने के अपने लक्ष्य के प्रति और भी प्रतिबद्धता के साथ आगे बढ़ेगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें