रायगढ़ । जिंदल स्टील एंड पाॅवर लिमिटेड के रायगढ़ संयंत्र ने 200 टन प्रतिदिन क्षमता के नए ऑक्सीजन संयंत्र की स्थापना की है। ऑक्सीजन कंप्रेसर की सुविधा से लैस इस संयंत्र से उत्पादन शुरू हो गया है। जेएसपीएल के सीओओ छत्तीसगढ़ दिनेश कुमार सरावगी ने पूजा कर विधिवत संयंत्र का उद्घाटन किया। 

जेएसपीएल रायगढ़ के इंटीग्रेटेड स्टील प्लांट में वर्तमान में 1450 टन प्रतिदिन ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता है। कोविड-19 महामारी के प्रकोप के दौरान इस ऑक्सीजन संयंत्र से रायगढ़ और छत्तीसगढ़ के साथ देश के कई राज्यों में जीवनदायिनी ऑक्सीजन भेजकर हजारों मरीजों की जान बचाने का प्रयास किया गया। ऑक्सीजन के चिकित्सकीय उपयोग के कारण जेएसपीएल समूह को अपना उत्पादन भी कम करना पड़ा, लेकिन समूह के चेयरमैन नवीन जिंदल के ’देश प्रथम’ के नारे को साकार करते हुए कंपनी ने पूरी क्षमता से पूरे देश में लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति की। इसके साथ ही ऑक्सीजन की उत्पादन क्षमता बढ़ाने की योजना भी बनाई गई।

रायगढ़ संयंत्र परिसर में ही 200 टन प्रतिदिन क्षमता के एक नए ऑक्सीजन संयंत्र की स्थापना के लिए प्रयास शुरू हुआ। आवश्यकता को देखते हुए युद्धस्तर पर काम करते हुए ऑक्सीजन संयंत्र की मशीन के आयात से लेकर इसकी स्थापना और उत्पादन प्रारंभ करने तक का काम बेहद कम समय में पूरा कर लिया गया। 200 टन प्रतिदिन की क्षमता वाले इस वीपीएसए-ऑक्सीजन संयंत्र से उत्पादन शुरू होने के साथ ही अब जेएसपीएल रायगढ़ की ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता बढ़कर 1650 टन प्रतिदिन तक पहुंच गई है। साथ ही हाॅट मैटल व स्टील उत्पादन क्षमता भी 500 टन प्रतिदिन तक बढ़ गई है। जेएसपीएल के सीओओ छत्तीसगढ़ दिनेश कुमार सरावगी ने पूजा-अर्चना कर नए संयंत्र का उद्घाटन किया। अल्प समय में संयंत्र की कमीशनिंग पर ऑक्सीजन संयंत्र के विभाग प्रमुख मनीष चौहान एवं पूरी टीम की प्रशंसा करते हुए उन्होंने सभी को भविष्य में मेहनत व लगन के साथ निरंतर बेहतर प्रदर्शन के लिए प्रेरित किया। 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें