कोविड टीकाकरण में जिला हर आयु वर्ग में प्रदेश में अव्वल : जिला टीकाकरण अधिकारी
जिले में अब बच्चों को निःशुल्क लगेगी न्युमोकोकल वैक्सीन, नियमित टीकाकरण कार्यक्रम में शामिल
शिशुओं को 6 सप्ताह, 14 सप्ताह और 9 महीने की आयु में लगेगी पीसीवी

रायगढ़ 16 जून 2021 । कोविड टीकाकरण को लेकर जिले ने प्रदेश में बेहतर प्रदर्शन करते हुए टीकाकरण के मामले में हर आयु वर्ग में अव्वल ही रहा है इसके साथ ही अब जिले में निमोनिया का टीका शिशुओं के लिए सरकारी अस्पताल में निशुल्क उपलब्ध रहेगा। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने मंगलवार को राज्य स्तरीय न्युमोकोकल वैक्सीनेशन का वर्चुअल शुभांरभ किया। जिले को 2,200 डोज निमोनिया वैक्सीन के मिल चुके हैं बस उन्हें इंतजार था तो सरकार से हरी झंडी मिलने का।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार 14 जून तक जिले में लगभग 5.80 लाख लोगों को कोविड का टीका लग चुका है। वहीँ 1.17 लाख लोग दोनों डोज ले चुके हैं तो  लगभग 3.57 लाख लोगों को प्रथम डोज लग चुका है। इसके अलावा 18 से 44 साल के आयु वर्ग में 90,894 लोगों ने टीका लगवाया है। 60 से अधिक आयु वर्ग के 42,410 लोगों को दोनों व 1.29  लाख लोगों को प्रथम डोज लगा है। 45 से 60 आयु वर्ग में 51,563 लोगों ने दोनों डोज व 1.96 लाख लोगों ने पहला डोज लिया है। फ्रंट लाइन वर्कर्स में 10,034 ने दोनों व 15,353 ने पहला डोज लिया है। हेल्थ केयर वर्कर्स में 13,422 ने दोनों व 15,672 ने पहला डोज ही लिया है।

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. भानू पटेल ने बताया, “16 जून को जिले में 202 टीकाकरण केंद्र बनाए गए थे जिसमें 20,000 लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है शाम 5 बजे तक 15,201 लोगों को टीका लग चुका है। इस तरह जिला 6 लाख टीके लगाने के करीब पहुंच चुका है। जिले में एक दिन में 35,000 कोविड टीके लगाने का रिकार्ड पहले ही बन चुका है जब 45 से 60 वर्ग के लोगों को टीका लगना शुरु हुआ था”।

पूरे विभाग की मेहनत है यह : सीएमएचओ डॉ. केसरी
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एसएन केसरी ने कहा “कोविड वैक्सीनेशन में जिला शुरू से ही बेहतर प्रदर्शन कर रहा है। हम राज्य में 6 लाख टीका लगाने वाले पहले जिले बनने की ओर अग्रसर हैं। टीकाकरण से जुड़े सभी अधिकारी कर्मचारियों की यह अथक मेहनत का यह परिणाम हैं। उन्होंने बताया, न्युमोकोकल कंजुगेट वैक्सीन को नियमित टीकाकरण में शामिल करने से पांच वर्ष तक के बच्चों की न्युमोकोकल बैक्टीरिया से होने वाली बीमारियों से रक्षा हो सकेगी। इससे जिले में बाल मृत्यु दर को कम करने में भी मदद मिलेगी। निमोनिया टीके का महंगे दर पर उपलब्धता के कारण आम लोगों तक इसकी पहुंच सीमित थी। अब नियमित टीकाकरण में शामिल होने से सभी बच्चों को इसे निःशुल्क लगाया जा सकेगा। शिशुओं को छह सप्ताह, 14 सप्ताह और नौ माह की आयु में इसकी तीन खुराकें दी जाएंगी”।

बच्चों को सुरक्षित रखने में मिलेगी मदद : डॉ. भानू पटेल
जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. भानू पटेल ने बताया, “पांच वर्ष तक के बच्चे न्युमोकोकल बैक्टीरिया से सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं।  पीसीवी से इन बच्चों को सुरक्षित रखने में मदद मिलेगी। निमोनिया, मस्तिष्क ज्वर, सेप्टीसिमिया, साइनुसाइटिस, ओटाइटिस मीडिया (कान का इन्फेक्शन) जैसी बीमारियों से बच्चों को बचाएगी। संबंधित अधिकारियों, सभी ब्लॉकों में तैनात डॉक्टर्स व स्टाफ को न्युमोकोकल कंजुगेट वैक्सीन के उपयोग, प्रभाव और सावधानियों की जानकारी व ट्रेनिंग दे दी गयी है। इस टीके को जिले में हर साल करीब 2,400 बच्चों तक पहुंचाने का लक्ष्य है। यह अब नियमित टीकाककरण कार्यक्रम में शामिल हो गया है मेडिकल कॉलेज में हर दिन व अन्य टीकाकरण केंद्रों में मंगलवार व शुक्रवार को यह टीका लगाया जाएगा”।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें