रायगढ़ । कोरोना की जारी दूसरी लहर के दौरान एनटीपीसी लारा दुहरी चुनौती का सामना कर रहा है। जहां एक तरफ विद्युत उत्पादन की निरंतरता को बरकरार रखना है वहीं अपने कर्मचारियों को इस महामारी के प्रकोप से भी बचाना है। एनटीपीसी लारा ने प्रशासन द्वारा जारी समस्त दिशा-निर्देशों का पूर्ण अनुपालन करते हुये इस चुनौती का सामना किया है एवं वर्तमान में उसकी दोनों यूनिट (800 मेगावाट*2=1600 मेगावाट) पूर्ण क्षमता के साथ विद्युत उत्पादन कर रही हैं। उल्लेखनीय है कि   विद्युत उत्पादन अत्यावश्यक सेवाओं के अंतर्गत आता है एवं क्षणिक विद्युत प्रवाह बाधित होने से भी अस्पताल, कानून एवं व्यवस्था, मीडिया आदि से जुड़ी सेवायें बुरी तरह चरमरा जाती हैं।

एनटीपीसी में केंद्रीय एवं क्षेत्रीय स्तर पर नियंत्रण कक्ष स्थापित किये गए हैं जो 24*7 संचालित हो रहे हैं एवं प्रत्येक स्टेशन के घटनाक्रम की लगातार मॉनीटरिंग की जा रही है। लारा के समस्त कर्मचारियों द्वारा मास्क, सेनेटाइजर एवं सोशल डिस्टेन्सिंग के समस्त प्रावधानों का समुचित पालन किया जा रहा है।  उन्हें संयंत्र एवं नगर-परिसर के मुख्य द्वार पर थर्मल स्केनिंग के पश्चात ही प्रवेश दिया जा रहा है। कार्यस्थल पर सोशल डिस्टेन्सिंग सुनिश्चित करने के लिये एनटीपीसी कर्मचारियों सहित समस्त संविदा कर्मचारियों को एक दिन के अंतराल पर वर्क फ़्राम होम की सुविधा प्रदान की गई है। कार्यस्थल पर हर तीन घंटे पर रोगाणु नाशक रसायन का छिड़काव किया जा रहा है। कोरोनोवायरस के संबंध में जागरूकता उत्पन्न करने के लिए क्या करें एवं क्या न करें संबंधी जानकारी पोस्टरों,एफ़एम प्रसारण एवं अन्यमाध्यमों से प्रदान की जा रही है।

एनटीपीसीलारा में समस्त बैठकों, प्रशिक्षण कार्यक्रमों एवं अन्य चर्चाओं हेतु ऑनलाइन माध्यम का उपयोग किया जा रहा है एवं यह आयोजन माइक्रोसॉफ़्ट टीम्स के माध्यम से किये जा रहे हैं। इस हेतु व्यापक आईटी सपोर्ट उपलब्ध कराया गया है। कोरोनाकाल में कर्मचारियों के साथ उनके परिवारजनों का मनोबल भी बनाए रखना आवश्यक है। इसे दृष्टिगत रखते हुये कई ऑनलाइन प्रतियोगिताओं का आयोजन भी किया जा रहा है, जिससे उनमें सकारात्मकता का भाव बना रहे एवं समय का सदुपयोग रचनात्मक कार्यों में किया जा सके। समस्त क्वारंटीन एवं पॉज़िटिव केसेस हेतु उचित चिकित्सकीय परामर्श एवं आवश्यकतानुसार अन्य सेवाएँ उपलब्ध कराई जा रही हैं। प्रत्येक पाली की शुरुआत पर समस्त कर्मचारियों से सुरक्षा संबंधी चर्चा के पश्चात ही कार्य प्रारम्भ किया जा रहा है। 

एनटीपीसी लारा विद्युत उत्पादन के साथ अपने सामाजिक दायित्वों के निर्वहन के प्रति पूर्ण प्रतिबद्ध है। परियोजना प्रभावित गाँव देवलसुरा में कोरोना पॉज़िटिव केसेस की अधिकता को देखते हुये सोडियम हाइपोक्लोरेट के छिड़काव की व्यवस्था कराई गई। समीपवर्ती ग्राम पंचायतों की आवश्यकता को देखते हुये 12000 मास्क एवं पर्याप्त मात्रा में सेनेटाइजर की खरीद की जा रही है, जिसे शीघ्र ही पंचायतों को उपलब्ध करा दिया जायेगा। लारा के चिकित्सा विभाग  के कोरोना योद्धा ऐसे समय में पूर्ण समर्पण भाव से योगदान दे रहे है। एनटीपीसी लारा एवं एजेंसियों के समस्त कर्मचारी एवं उनके परिवारजन, जिनकी आयु 45 वर्ष से अधिक है, वो वैक्सीन का प्रथम डोज़ प्राप्त कर चुके हैं। श्री आलोक गुप्ता, मुख्य महाप्रबंधक, एनटीपीसी लारा के नेतृत्व में निर्बाध विद्युत उत्पादन के साथ कोरोना के विरुद्ध जंग हर मोर्चे पर सफलतापूर्वक लड़ी जा रही है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें